Lamborghini Huracán LP 610-4 t
मकर संक्रान्ति

सूर्य का मकर राशि में प्रवेश 14 और 15 की रात
12.58 पर होगा। ऋषिकेश पंचांग के अनुसार
15 को सुबह 5.42 पर
संक्रांति होगी जबकि इस दिन सूर्योदय
6.43 पर होगा। ऐसे में मकर
संक्रांति का पुण्यकाल 15 को ही है। श्री देव
पंचांग में भी ऐसा ही उल्लेख है।

किसे कहते हैं संक्रांति
किसी भी ग्रह का वर्तमान राशि से
अगली राशि में प्रवेश
करना संक्रांति कहलाता है। दोनों राशियों के
बीच के बिंदु को पार करने के समय को पुण्य
काल कहते हैं।
ऐसे मनी संक्रांति
साल तारीख
1550 से 10 जनवरी
1645 से 11 जनवरी
1735 से 12 जनवरी
1825 से 13 जनवरी
1915 से 14 जनवरी
ऐसे मनेगी
2017 से 15 जनवरी
2102 से 16 जनवरी

नया जिला

छत्तीसगढ़ का आंतरिक भूगोल एक
जनवरी से बदल जाएगा। नौ नए जिले अस्तित्व
में आ जाएंगे। इसके साथ ही 18 जिलों वाले
राज्य में अब 27 जिले हो जाएंगे।
मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने नए
जिलों की घोषणा स्वतंत्रता दिवस के मौके पर
की थी।
मुख्यमंत्री 10 जनवरी से नए जिलों के क्रमश:
उद्घाटन शुरूआत करेंगे। नए जिलों में गरियाबंद,
सूरजपुर और बलरामपुर को पहले ही पुलिस
जिला बना दिया गया था। ये नक्सल
प्रभावित क्षेत्र हैं इस कारण पुलिस
जिला बनाने का निर्णय पहले ही ले
लिया गया था। इनके अलावा दो और नए जिले
सुकमा और कोंडागांव नक्सल प्रभावित क्षेत्र
हैं। इस तरह नौ में से पांच नक्सल प्रभावित
क्षेत्रों में नए जिलों का गठन होगा। जिलों के
पुनर्गठन में रायपुर को तीन जिलों में बांट
दिया गया है। रायपुर अब बलौदाबाजार और
गरियाबंद से भी छोटा जिला होगा, जिसमें
केवल चार ब्लाक होंगे। रायपुर से अलग कर जिले
बनाए गए बलौदाबाजार में छह और गरियाबंद
में पांच ब्लाक रखे गए हैं।
पुराने जिलों का आकार घटा, नए जिलों में
ये ब्लाक होंगे
रायपुर जिला- अभनपुर, आरंग, धरसींवा,
तिल्दा
बलौदाबाजार जिला- बिलाईगढ़, कसडोल,
बलौदाबाजार, पलारी, भाटापारा, सिमगा
गरियाबंद जिला- फिंगेश्वर, छुरा,
गरियाबंद, मैनपुर, देवभोग
दुर्ग जिला- दुर्ग, धमधा, पाटन
बेमेतरा जिला- नवागढ़, बेमेतरा, बेरला,
साजा
बालोद जिला- डौण्डी, डौण्डीलोहारा,
गुरूर, बालोद,गुण्डरदेही
बिलासपुर जिला- मरवाही, पेंड्रा, गौरेला,
कोटा, तखतपुर, बिल्हा, मस्तूरी
मुंगेली जिला- मुंगेली, पथरिया, लोरमी
कोंडागांव जिला- केशकाल, बड़ेराजपुर,
माकड़ी, कोंडागांव, फरसगांव
बस्तर जिला- जगदलपुर, तोकापाल, दरभा,
लोहण्डीगुड़ा, बकावण्ड, बस्तर, बास्तानार
दंतेवाड़ा जिला- दंतेवाड़ा, कटेकल्याण,
कुआकोंडा, गीदम
सुकमा जिला- छिंदगढ़, सुकमा, कोंटा
सूरजपुर जिला- सूरजपुर, भैयाथान, ओड़गी,
रामानुजनगर, प्रेमनगर, प्रतापपपुर
बलरामपुर जिला- बलरामपुर, रामचंद्रपुर
(रामानुजगंज), वाड्रफनगर, राजपुर, कुसमी,
शंकरगढ़
सरगुजा- सीतापुर, मैनपाट, बतौली,
अंबिकापुर, लखनपुर, उदयपुर, लुण्ड्रा
नए जिले : सुकमा, कोंडागांव, बालोद, बेमेतरा,
बलौदाबाजार, गरियाबंद, मुंगेली, सूरजपुर और
बलरामपुर। रायपुर होगा सबसे छोटा जिला,
होंगे सिर्फ चार ब्लॉक।
दो भाग में बंट गया बस्तर
बिलासपुर से मुंगेली क्षेत्र को अलग कर उस जिले
में तीन ब्लाक रखे गए हैं। दुर्ग को भी तीन
जिलों में बांट दिया गया है। बस्तर
को दो भाग में बांट दिया गया है। दंतेवाड़ा से
सुकमा को अलग कर उसमें तीन ब्लाक छिंदगढ़,
सुकमा और कोंटा ब्लाक दिए गए हैं।
सरगुजा को तीन जिलों में बांट दिया गया है।
इस फेरबदल में राजनांदगांव, कवर्धा, महासमुंद,
धमतरी, कांकेर, नारायणपुर, बीजापुर,
कोरिया, जशपुर, जांजगीर और रायगढ़ जिले
को अप्रभावित रखा गया है।